Tuesday, 17 March 2015

रितेश कुमार साहू विरूद्ध रोशन यादव उर्फ राजू यादव व अन्‍य

मोटर दुर्घटदावा प्रकरण क्रं.- 23/2015 
आवेदक का दावा संक्षेप में इस प्रकार है कि आवेदक रितेश कुमार साहू घटना दिनांक 23-9-2010 को अपने मित्र मनोज रूप सिंह एवं विनोद आदि के साथ अनावेदक क्रमांक 1 की टाटा मैजिक सी.जी./07-टी/1799 में बैठकर दुर्ग से राजनांदगांव की ओर जा रहा था, तभी गायत्री ट्रांसपोर्ट के निकट अनावेदक क्रमांक 1 ने उक्त वाहन को तेज गति से एवं लापरवाहीपूर्वक चलाकर रोड़ के डिवाईडर से टकरा दिया, जिससे वाहन पलट गया और आवेदक को गंभीर चोंट उसके दांहिने हाथ, बांयें कोहनी के नीचे तक कुचल गया तथा हड्डी में कम्नियूकटेड फ्रैक्चर व शरीर के अन्य भागों में भी फ्रैक्चर आ गया, तब आवेदक को घटना स्थल से जिला अस्पताल राजनांदगांव ले जाया गया, जहॉं आवेदक का प्राथमिक उपचार किया गया और आवेदक को उचित ईलाज हेतु पं. जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केन्द्र सेक्टर 9 भिलाई में भेजा गया, वहॉं उसकी बांह का आपरेश किया गया, किन्तु डॉक्टरों ने उसके हाथ की गंभीर हालत को देखकर उसके दांहिने हाथ को काटने की बात कही, तब आवेदक कालडा सर्जरी इंस्टीट्यूट रायपुर में भर्ती किया गया, जहॉं वह दिनांक 23-9-2010 से दिनांक 25-10-2010 तक भर्ती रहा। आवेदक ने रामकृष्ण अस्पताल रायपुर में भी ईलाज कराया है।

No comments:

Post a Comment

My Blog List